logo

New Bypass जमीन नहीं मिलने से हरियाणा के इस बाईपास का काम अटका, बड़ी वजह आई सामने

टोहाना (Tohana) के हिसार (hisar) रोड़ को रतिया (ratia)रोड़ से जोड़ने वाले बाईपास का निर्माण कार्य रूक गया है। बाईपास के निर्माण कार्य को लेकर सरकार की ओर भूमि अधिग्रहण की भी मंजूरी दे दी गई थी लेकिन जमीनों के रेट को लेकर भूमि मालिक खुश नजर नहीं आ रहे है। आइए जानें पूरा मामला
 
 | 
New Bypass जमीन नहीं मिलने से हरियाणा के इस बाईपास का काम अटका, बड़ी वजह आई सामने

news hindi live, टोहाना, बाईपास न बनने के कारण अभी तक लोगों को हिसार रोड से रतिया रोड पर जाने के लिए पहले नागरिक अस्पताल के सामने से होते हुए शहीद चौक, बस स्टैंड चौक,  अंबेडकर चौक व सेन चौक होते हुए रतिया रोड पर पहुंचते हैं। उक्त सभी चौकों के आसपास हर समय भारी भीड़ रहती है। 


हिसार रोड से रतिया रोड को मिलाने वाले उक्त बाईपास बनने के बाद हजारों लोगों को लाभ होगा। शहर हिसार रोड को रतिया रोड से मिलाने वाले बाईपास का निर्माण 2 कनाल जमीन का अधिग्रहण न होने के कारण अधर में लटक गया  है। जमीन अधिग्रहण ना होने का मुख्य कारण सरकार कृषि भूमि के मुताबिक रेट देने को तैयार है जबकि  जमीन मालिक का कहना है कि उसकी जमीन गैर मुमकिन जगह है इसलिए उसे गैर मुमकिन जमीन की रेट के मुताबिक रेट मिलना चाहिए। दोनों के रेट में करीब करीब एक करोड़ रुपए का अंतर बताया  जा रहा है। जिस कारण बाईपास का काम अधर में ही लटक गया है।

mausam ki jankari हरियाणा में मौसम कल बदलेगा करवट, लगातार 4 दिन बारिश के आसार

इसी कारण राहगीरों को अन्य मार्गों से अपने गंतव्य की ओर आवागमन अधर में लटके बाईपास के कच्चे रास्ते से होकर आवागमन करते वाहन।
करना पड़ रहा है वहीं करोड़ों रुपए लग कर भी यह बाईपास धूल फांक रहा है। फिलहाल लोक निर्माण  विभाग अब इस मामले में जमीन अधिग्रहण अधिनियम के सेक्शन 9 के तहत नोटिफिकेशन करने जा रहा है जिसके बाद सरकार जमीन को अधिग्रहण करेगी।

3 साल पहले शुरू हुआ था बाइपास का निर्माण कार्य 
उक्त बाईपास का निर्माण 19 सितंबर 2019 को शुरू किया गया था करीब 4.8 किलोमीटर लंबे इस 
बाईपास के निर्माण पर 33 करोड़ 38 लाख रुपए खर्च होंगे जबकि सरकार ने जमीन के अधिग्रहण के लिए भी ग्रांट जारी की थी लेकिन जमीन का सही दाम न मिलने से किसान ना खुश है किसानों की मांग है कि उन्हें जमीन का सही दाम दिया जाए